दैनिक भास्कर - मैनजमेंट फ़ंडा    
एन. रघुरामन, मैनजमेंट गुरु 

हेल्थकेयर से जुड़े क्षेत्र भविष्य की दुनिया पर राज करेंगे

हेल्थकेयर से जुड़े क्षेत्र भविष्य की दुनिया पर राज करेंगे
Bhaskar.png

March 28, 2021
हेल्थकेयर से जुड़े क्षेत्र भविष्य की दुनिया पर राज करेंगे

इस शुक्रवार को एक बुजुर्ग मेडिकल के काउंटर पर, मुझे मिलाकर बाकी ग्राहकों के जाने का इंतजार कर रहे थे। दुकानदार की उनको पहले सुनने की इच्छा के बावजूद उन्होंने आखिरी में मदद लेनी चाही। मुझे ये दिलचस्प  लगा। जब मैंने फोन पर व्यस्त होने का दिखावा किया तब उन्होंने जल्दी से ‘एडल्ट डायपर’ मांगा। अजीब कारणों से मेडिकल स्टोर पर इस तरह की चीजें मांगना समाज में बेवजह की शर्मिंदगी से जोड़ा जाता है, ऐसा मैंने पश्चिमी देशों में नहीं देखा। 

मूत्राशय पर नियंत्रण खो देना, जिसे चिकित्सा की भाषा में यूरीनरी इन्कॉन्टीनेंस कहते हैं, ये एक सामान्य समस्या बुजुर्गावस्था में हो सकती है। पर, जबकि बच्चों में मूत्राशय पर नियंत्रण न कर पाने को हम सामान्य लेते हैं, लेकिन जैैसे-जैसे वे बड़े होते हैं, इसे हम शर्म या किसी कलंक की तरह देखने लगते हैं। ये एक कारण हो सकता है कि बुजुर्ग एडल्ट डायपर मांगने में असहज महसूस कर रहे थे। मैं चुपचाप उनके पास गया और पूछा, ‘क्या अमेरिका में आपका कोई है?’ उन्होंने कहा, ‘मेरे दोनों बेटे’ और तब मैंने शांति से ‘Urivarx’ दवा का नाम लिखा और कहा कि यह मूत्रविज्ञान की हालिया महत्वपूर्ण उपलब्धि है। डॉक्टरी पर्चे के बिना ली जा सकने वाली मूत्राशय पर नियंत्रण की यह दवा पूरे अमेरिका में उपलब्ध है। मैं ये कहकर चला गया कि ‘फिर भी आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।’ शोध बताते हैं कि ज्यों-ज्यों हम बुुजुर्ग होते जाते हैं, हॉर्मोन्स में बदलाव के कारण मूत्राशय के आसपास की मांसपेशियां कमजोर होती जाती हैं। जब वे बहुत छोटी व कमजोर हो जाती हैं, तो मूत्राशय को बंद नहीं रख पाती, जिसके चलते पेशाब निकल जाती है। 

इससे मुझे याद आया कि शानदार कॅरिअर की चाह रखने वाले युवाओं को भविष्य में हेल्थकेयर और तकनीक से संबंधित क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की जरूत है, यहां यह बताना प्रासंगिक है कि हेल्थकेयर हमेशा ही दवाओं से जुड़ा होना जरूरी नहीं। 

भारतीय स्वास्थ्य-तकनीकी कंपनियों में टर्टल शेल टेक्नोलॉजीज के संस्थापकों का उदाहरण लें, यह भारत में स्पर्शरहित स्वास्थ्य साथी को लॉन्च करने वाली पहली कंपनी है। आईआईटी इंदौर के गौरव परचानी और आईआईटी मुंबई के मुदित दंडवते ने पतली सेंसर शीट विकसित की है, जिसे गद्दे के नीचे (18 इंच तक) रखा जाता है, चिकित्सा ग्रेड उपकरणों में 98.4% सटीकता के साथ यह स्पर्श रहित स्वास्थ्य उपकरण हृदयगति, श्वास, नींद और तनाव में हो रहे फायदे पर निगरानी रखता है। यह स्वास्थ्य की सामान्य निगरानियों, विशेष तौर पर रोकथाम से जुड़ी स्वास्थ्य सेवाएं, तनाव प्रबंधन, नींद बेहतर करने और एथलीट के प्रदर्शन का प्रबंधन करने में भी इस्तेमाल किया जाता है। खुद से क्वांरटीन में या जोखिम की ज़द में शामिल लोग घर पर रहकर भी अपने स्वास्थ्य पर नजर रख सकते हैं, खासकर जब  अस्पताल वायरस से निपटने में व्यस्त हैं।

इस क्षेत्र का एक और नवाचार भुवनेश्वर से है। ‘EzeCheck’ सफेद रंग का टॉर्च जैसा उपकरण है, जिसके ऊपर अंगुली रखने की एक छोटी-सी जगह है। 10-20 सेकंड में शरीर में प्रवेश किए बिना यह हल्का उपकरण आपके रक्त के पांच अलग-अलग मापदंडों जैसे हीमोग्लोबिन, ऑक्सीजन सेचुरेशन, बिलिरूबिन, क्रिएटिनिन और रक्त में ग्लूकोज़ की मात्रा बता देता है। इस डाटा को झट से आपके मोबाइल में डाला जा सकता है और इसे आप परामर्श के लिए अपने डॉक्टर को भी भेज सकते हैं। ये सभी चीजें शरीर में सुई लगाए बिना और खून निकाले बिना भी संभव हैं! इसे पार्थ प्रतिम दास के साथ चैताली रॉय और सुदीप रॉय चौधुरी द्वारा स्थापित ‘EzeRx’ नाम की कंपनी ने विकसित किया है। 

याद रखें, ऐसे दौर में जहां 45 की उम्र के बाद के हर 11 लोगों में एक व्यक्ति गंभीर किडनी बीमारी से ग्रसित है और 45 से ज्यादा उम्र के 80 फीसदी लोग डायबिटीज़ से ग्रसित हैं, तीन में से दो महिलाओं को हीमोग्लोबिन की कमी है। इस तरह की सस्ती और आसान स्वास्थ्य परीक्षण सुविधाएं गरीबों को स्वास्थ्य सहायता लेने में मदद करेंगी। 

फंडा यह है कि याद रखें, स्वास्थ्य सेवाएं, स्वास्थ्य सेवाओं का नेटवर्क, इन सेवाओं की सहूलियत- इनमें कुछ दवाओं से संबंधित हो सकती हैं, तो कुछ नहीं भी, ये सब भ‌विष्य की जरूरतों पर राज करेंगी।

1_edited_edited.jpg

Be the Best Student

Build rock solid attitude with other life skills.

05/09/21 - 11/09/21

Two Batches

Batch 1 - For all adults (18+ Yrs)

Batch 2 - For all minors (below 18 Yrs)

Duration - 14hrs (120m per day)

Investment -  Rs. 2500/-

DSC_5320_edited.jpg

MBA

( Maximize Business Achievement )

in 5 Days

30/08/21 - 03/09/21

Free Introductory briefing session

Batch 1 - For all adults

Duration - 7.5hrs (90m per day)

Investment - Rs. 7500/-

041_edited.jpg

Goal Setting

A proven, step-by-step workshop for setting and achieving goals.

01/10/21 - 04/10/21

Two Batches

Batch 1 - For all adults (18+ Yrs)

Batch 2 - Age group (13 to 18 Yrs)

Duration - 10hrs (60m per day)

Investment - Rs. 1300/-