top of page
  • Writer's pictureNirmal Bhatnagar

सफलता के लिए विपरीत दौर में रुकें नहीं…

Sep 2, 2023

फिर भी ज़िंदगी हसीन है…

दोस्तों, हम सब जानते हैं कि अंधेरा कितना भी घना क्यों ना हो, दिये के जलते ही वह ग़ायब हो जाता है। यह बात जितनी अंधेरे के संदर्भ में सही है, उतनी ही जीवन में नकारात्मकता के संदर्भ में। अर्थात् दोस्तों जीवन में कितनी भी नकारात्मकता क्यों ना हो आशा की एक किरण सारी नकारात्मकता को ख़त्म कर सकारात्मकता फैला देती है। इसलिए दोस्तों, मेरा मानना है कि अपने जीवन और ऊर्जा को चिंतित रहते या चिंता करते हुए व्यर्थ करने से बेहतर है कि हम आशान्वित रहते हुए अपना जीवन जिएँ। इसका सीधा-सीधा अर्थ होगा आप समस्याओं के स्थान पर समाधान पर अपना ध्यान लगाते हैं और यह अपने समय और ऊर्जा का सही प्रबंधन है। याद रखियेगा दोस्तों, समय और ऊर्जा का सही प्रबंधन करके ही हम अपने जीवन को शांति एवं आनंद के साथ प्रसन्नतापूर्वक जी सकते हैं।


साथियों, हो सकता है आपको लग रहा होगा कि मेरे लिये यह सब कहना आसान है। लेकिन यक़ीन मानियेगा मैंने या यह कहना बेहतर होगा कि किसी भी सफल और श्रेष्ठ व्यक्ति ने अपने जीवन में उन्हीं सब स्थितियों का सामना किया है, जो कोई भी सामान्य इंसान अपने जीवन में करता है। उदाहरण के लिए मैंने अपने जमे-जमाये व्यवसाय को अपने ग़लत निर्णय के कारण ख़त्म होते हुए देखा है; कर्ज के बोझ में जीवन जिया है; भावनात्मक, सामाजिक, वित्तीय धोखों का सामना किया है; कुल मिलाकर कहा जाये, तो लंबे समय तक विपरीत परिस्थितियों में जीवन जिया है।


जी हाँ साथियों, इस दुनिया में एक भी इंसान ऐसा नहीं है जिसने जीवन की राह में कष्ट, परेशानी, विपत्तियों का सामना नहीं किया हो। मैं सौ प्रतिशत सहमत हूँ कि जीवन की राह में कष्ट, विपत्तियों का कोहरा बहुत घना है। जिसमें अक्सर सामान्य इंसान को अपना भविष्य एकदम अंधकारमय नज़र आता है; बुद्धि एकदम से काम करती नज़र नहीं आती है। लेकिन यक़ीन मानियेगा यही वह समय होता है जब एक छोटा सा कदम आपके जीवन की आगे की राह आसान बनाता जाता है। कहने का अर्थ है साथियों, विपरीत स्थिति या परिस्थिति नहीं बल्कि उन विपरीत स्थिति-परिस्थिति में आपकी मनःस्थिति जीवन को बेहतर बनाती है।


यह बात आप प्रकृति के नियम से भी सीख सकते हैं। जैसे घने कोहरे के दौरान आप कहीं जाने के लिए कोहरा छँटने की प्रतीक्षा या इंतज़ार करेंगे और चिंतित रहेंगे तो आप अपना बहुत क़ीमती समय और ऊर्जा बर्बाद कर देंगे। इसके विपरीत अगर आप घने कोहरे के दौरान सिर्फ़ एक-एक कदम आगे बढ़ेंगे तो पायेंगे कि आपको अगला कदम स्पष्ट नज़र आने लगा है। ठीक इसी तरह जब आप जीवन में विपरीत दौर से गुजर रहे हो तब उस पल में आप सिर्फ़ एक छोटा सा कदम अपनी समझ के आधार पर समाधान की ओर बढ़ायें। वहाँ पहुँचने पर आप पायेंगे कि आपका यह छोटा सा एक सकारात्मक कदम आपको जीवन में आगे बढ़ने का मार्ग दिखाता जा रहा है।


जी हाँ दोस्तों, विपरीत समय में जीवन में प्रसन्नता और आनंद की चाह में जीवन पथ पर रुकने की अपेक्षा धीरे-धीरे एक-एक कदम निरंतरता के साथ चलना, आपके जीवन में बड़ा सकारात्मक परिवर्तन लाता है। यही एक कदम गुजरते वक़्त के साथ आपको एहसास करवायेगा कि विपरीत दौर लंबा नहीं था, अपितु आपने ही मंज़िल की दिशा में चलने में देर कर दी थी।


-निर्मल भटनागर

एजुकेशनल कंसलटेंट एवं मोटिवेशनल स्पीकर

nirmalbhatnagar@dreamsachievers.com

7 views0 comments

Comments


bottom of page