top of page
  • Nirmal Bhatnagar

नववर्ष के संकल्पों को पूर्ण करने के 5 सरल सूत्र - भाग1

Jan 1, 2023

फिर भी ज़िंदगी हसीन है…

दोस्तों, सर्वप्रथम तो आप सभी को अंग्रेज़ी के नववर्ष 2023 की ढेर सारी बधाई। वैसे एक लम्बे अंतराल के बाद हम सुकून और शांति के साथ नए साल में प्रवेश कर रहे हैं क्यूँकि छुट्टी होने के कारण आज आप बिलकुल रिलेक्स मूड में होंगे और निश्चित ही साथ में होंगे जीवन में सफल होने के लिए कुछ नए सपने, कुछ नए रिसोलयूशन। लेकिन दोस्तों अक्सर देखा गया है कि लोग नए साल में बनाए गए सपनों को ज़्यादा दिनों तक ज़िंदा नहीं रख पाते हैं। पता है क्यों? क्यूँकि सपने देखना और उन्हें हक़ीक़त में पूरे करना दो बिलकुल अलग-अलग बातें हैं। जी हाँ साथियों, जिस तरह सफल होना और सफलता के बारे सोचना और उसके लिए योजना बनाना भी दो बिलकुल अलग-अलग बातें हैं। आईए दोस्तों, आज हम वर्ष 2023 को अपने जीवन का सबसे सफल वर्ष बनाने के लिए सफलता के 5 आवश्यक सूत्र सीखते हैं-


प्रथम सूत्र - बनाएँ पक्का इरादा

अक्सर लोग सपने तो देखते हैं, लेकिन उसे हक़ीक़त में बदलने का पक्का इरादा ना होने के कारण राह में आने वाली चुनौतियों या परेशानियों के कारण उन्हें बीच में ही छोड़ देते हैं और अपनी क़िस्मत को दोष देने लगते हैं। ऐसे लोग अक्सर आपको किंतु, परंतु, इसने, उसने, लेकिन, शायद, भाग्य, क़िस्मत आदि शब्दों को प्रयोग करते हुए मिल जाएगे। याद रखिएगा साथियों, जो लोग सपनों को पूरा करते हैं, वे अपनी योजना मुताबिक़ जीवन में सफलता पाते है और संयोग, क़िस्मत आदि जैसे शब्दों से दूरी बना कर चलते हैं। साथियों, क़िस्मत या संयोगवश जीवन में कुछ घटनाएँ आपके सपनों या आपकी सोच के अनुसार घट सकती हैं, लेकिन क़िस्मत के भरोसे जीवन नहीं कट सकता है। क़िस्मत या संयोग के भरोसे तो साथियों जीवन इंतज़ार में ही कट जाएगा कि एक दिन कुछ अच्छा होगा। इसके स्थान पर सपनों को हक़ीक़त में बदलने के लिए पक्का इरादा बनाएँ और फिर अपनी पूरी क्षमताओं के साथ काम करना शुरू करें। कुछ ही दिनों में आप पाएँगे कि आप अपने सपनों के क़रीब पहुँचने लगे हैं।


दूसरा सूत्र - याद रखें असफलता, सफलता का ही हिस्सा है

जो अपने लक्ष्यों के प्रति समर्पित होता है, वही कार्य करता है और जो कार्य करता है, वही असफल होता है। इसलिए असफलता से घबराएँ नहीं बल्कि उससे सीखें, नई सीख के अनुसार योजना में सुधार करें और एक बार फिर प्रयास करें, सफलता निश्चित तौर पर आपके कदम चूमेंगी। दूसरे शब्दों में कहूँ तो लक्ष्य के प्रति समर्पण आपके फ़ोकस को बढ़ाता है। बढ़ा हुआ फ़ोकस आपको असफलता के बाद भी फिर से खड़ा होने में मदद करता है। हार ना मान फिर से शुरुआत करना आपको तन और मन से लक्ष्य पाने के लिए तैयार करता है। यानी आप तन, मन और भावनाओं के साथ लक्ष्य के प्रति समर्पित हो जाते हैं। ऐसे में आपका शरीर भी बढ़ी हुई ऊर्जा के साथ लय में आ जाता है। सोच, मन, ऊर्जा और तन सभी का सपनों के साथ सामंजस्य बनना निश्चित तौर पर आपको सफल बनाता है।


तीसरा सूत्र - स्पष्ट सोच रखें

सपने या लक्ष्य बनाने के बाद किसी भी प्रकार की दुविधा में रहना आपकी सोच, मन, ऊर्जा और तन के सामंजस्य को गड़बड़ा देता है। जिसकी वजह से आप अपना आत्मविश्वास खो देते हैं। याद रखिएगा, जब आपके अंदर स्पष्ट सोच होगी तभी आत्मविश्वास होगा और जब आत्मविश्वास होगा तभी सोच, मन, ऊर्जा और तन एक दिशा में एक साथ चल आपको सफलता दिलाएँगे।


आज के लिए इतना ही दोस्तों, सफलता के लिए आवश्यक अगले दो सूत्र हम कल सीखेंगे।


-निर्मल भटनागर

एजुकेशनल कंसलटेंट एवं मोटिवेशनल स्पीकर

nirmalbhatnagar@dreamsachievers.com


10 views0 comments
bottom of page